इविवि प्रशासन द्वारा छात्रावास खाली कराए जाने के आदेश का छात्रों ने कुलपति कार्यालय का घेराव कर विरोध किया

इलाहाबाद विश्विद्यालय प्रशासन द्वारा छात्रावासो को खाली कराए जाने के आदेश को लेकर आज छात्रों जमकर विरोध किया,वही इविवि छात्रसंघ की ओर से छात्रसंघ उपाध्यक्ष अखिलेश यादव ने विश्वविद्यालय प्रशासन को भी प्रोफेसर आवास खाली कराने का नोटिस जारी कर दिया,छात्रों ने कुलपति कार्यालय पर आंदोलन कर बैठ गए और कुलपति नीचे आओ के नारे लगाने लगे,तकरीबन ढाई घंटे की जद्दोजहद के बाद चीफ प्रॉक्टर आर.के उपाध्याय पुलिस प्रशासन समेत कर्नलगंज के सीओ व इंस्पेक्टर को साथ लेकर छात्रों से वार्ता करने आए,प्रथम दृष्टया छात्रों व प्रशासन के बीच वार्ता विफल रही,प्रॉक्टर छात्रावास खाली कराने पर अड़े रहे वहीं छात्रों का कहना था कि,इस महामारी में जहां संक्रमण इतनी तेजी से फैल रहा है,ऐसी दशा में घर भेजना कहां तक न्यायोचित होगा,इस बाबत छात्रों द्वारा छात्रसंघ उपाध्यक्ष अखिलेश यादव के नेतृत्व में धरना स्थल पर अपना मांग पत्र भी कुलानुशासक को दिया गया,जिस पर कुलानुशासक ने रात तक निर्णय लेने की बात कही,आंदोलन करने में उपस्थित छात्र नेता अतेंद्र सिंह व कुंवर साहब सिंह ने कहा कि,हमे घर भेजने से पहले सभी छात्रों की कोरोना जांच हो,निजी परिवहन की व्यवस्था विश्वविद्यालय प्रशासन करें,तभी हम बाहर जाएंगे,हमारी जान को जोखिम में डालना किसी के अधिकार में नहीं है,छात्रसंघ उपाध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि,इस तानाशाही पूर्ण फैसले को जल्द से जल्द वापस लिया जाए अन्यथा परिणाम जो भी हो लड़ाई आर-पार की होगी,छात्र नेता अजय सम्राट व विजयकांत ने संयुक्त बयान में कहा कि,यह पूर्ण रूप से छात्र विरोधी फैसला है,छात्रों की प्रतियोगी परीक्षाएं सामने है कोरोना संक्रमण तेजी से फैल रहा है ऐसे दौर में छात्रावास खाली करवाना द्वेषपूर्ण फैसला है,इस दौरान वरिष्ठ छात्र नेता अविनाश विद्यार्थी,भूदेव यादव जितेंद्र धनराज,सत्यम कुशवाहा,आयुष मौर्य,अमित पाण्डेय,पवन जिमी,अजीत खरवार,आदित्य शाही,मुबाशीर हारून,फरहान आदि छात्र संगठन मौजूद रहे!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *