संविदा पर तैनात 32 हेल्थ वर्करों को नहीं मिलेगा दीपावली पर बोनस

प्रधानमंत्री के महत्वाकांक्षी योजना आयुष्मान भारत योजना के संचालन में लगे हैं कर्मचारी
प्रतापगढ़। प्रधानमंत्री के महत्वाकांक्षी योजना आयुष्मान भारत योजना को सफल बनाने में लगे जिले के 32 हेल्थ वर्करों को फिर इस बार दीपावली पर बोनस तो दूर मानदेय तक मिलना मुश्किल है। ‌स्वास्थ्य विभाग के जिम्मेदार अफसर इनके ओर ध्यान नहीं देते हैं। जबकि वहीं एनएसएम के कर्मचारियों को पांच से दस प्रतिशत मानदेय के मुताबिक बोनस देने के लिए शासन ने आदेश दे दिया है।
जिले में 29 आरोग्य मित्र तो एक नोडल अफसर समेत तीन कर्मचारियों की ‌सीएमओ आफिस से लेकर सीएचसी और पीएचसी में तैनाती संविदा के आधार पर सीएमओ ने कर रखा है। स्वास्थ्य विभाग के मुखिया शासन के नियमानुसार अस्पताल का कार्य इनसे लेते हैं। मगर इनके मानदेय ओर बोनस के साथ फंड आदि शासन के योजना की ओर ध्यान नहीं देते हैं। जबकि शासन का आदेेश है कि सभी कर्मचारियों को दीपावली के पहले मानदेय ओर बोनस दे दिया जाए। मगर संविदा पर तैनात प्रधानमंत्री के महत्वाकांक्षी योजना के संचालन में लगे आयुष्मान विभाग के नोडल के साथ आयुष्मान मित्रों को बोनस के नाम पर फूटी कौड़ी तक नहीं स्वास्थ्य विभाग देेगा। इतना ही नहीं बहुत से आयुष्मान मित्रों को दीवाली पर मानदेय तक नहीं मिल रहा है। इससे पीएम के महत्वाकांक्षी योजना में लगे आयुष्मान मित्र व अन्य अफसर के साथ कर्मचारी हैरान हैं। वहीं एनएचएम के कर्मचारियों को बोनस देने के लिए शासन ने आदेश सीएमओ को दे दिया है।
इनसेट———–
शासन का है यह नियम
शासन ने आदेश दिया है कि एनएसएम के जिन कर्मचारियों की तैनाती वर्ष 2014-16 में हुई है उन्हें मानदेय के मुताबिक पांच प्रतिशत तो वर्ष वर्ष 2016 से 18 के बीच ज्वाइन किये हैं उन्हें मानदेय के मुताबिक दस प्रतिशत बोनस का भुगतान ‌करने को कहा है। सीएमओ ने ऐसे कर्मचारियों की सूची तैैयार कर दो दिनों के अंदर सीएचसी और पीएचसी अधीक्षक से मांगा है। जबकि आयुष्मान मित्रों के साथ ही आयुष्मान के नोडल अफसर डॉक्टर सुधाकर सिंह, विवेक मिश्र और अंजनी श्रीवास्तव एनएचएम के कर्मचारी नहीं है। इस लिए उन्हें बोनस के नाम पर फूटी कौड़ी तक नहीं मिलेगा।
वर्जन———
सभी आयुष्मान मित्रों को दिपावली के पहले मानदेय देने के लिए सीएचसी अधीक्षक को सीएमओ के माध्यम से पत्र भेजा गया है। यदि अधीक्षक आयुष्मान मित्रों को त्यौहार के पहले मानदेय का भुगतान नहीं करते हैं तो उनके खिलाफ लिखापढ़ी करने के लिए सीएमओ को पत्र लिखा जाएगा। बोनस के लिए भी मांग किया जा रहा है। मगर उम्मीद बहुत कम दिख रहा है कि आयुष्मान विभाग के कर्मचारियों को बोनस में कुछ मिले।

डॉक्टर सुधाकर सिंह, नोडल अफसर आयुष्मान।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *