स्वामी जी एक महान गृहस्थ संत थे :-राजकुमार पाल विधायक

प्रतापगढ़ सेनानी ग्राम देवली परसन पांडे के पुरवा में सामाजिक आध्यात्मिक एवं गृहस्थ संत गोलोक वासी जगदीश नारायण पांडे रामानुज दास( स्वामी जी) के वार्षिकी के अवसर पर एक भोज का आयोजन हुआ उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित करने के लिए कोविड-19 का पालन करने के लिए भारी संख्या में लोग एकत्रित हुए।
इस अवसर पर राजकुमार पाल विधायक ने स्वामी जी के चित्र के समक्ष दीप प्रज्वलन कर श्रद्धा सुमन अर्पित कर उन्हें नमन करते हुए कहा कि स्वामी जी महापुरुष थे। आप सदा गरीबों के हित चिंतक तथा उनकी भलाई एवं उनको न्याय दिलाने के लिए तत्पर रहते थे। आपका व्यक्तित्व एवं कृतित्व महान था। आप एक गृहस्थ संत के रूप में सदा स्मरण किए जाएंगे।
पंडित श्याम किशोर शुक्ला महामंत्री कांग्रेस कमेटी उत्तर प्रदेश ने कहा कि आपका हृदय बिल्कुल गंगा जल की तरह पवित्र था। आप सदैव सत्य की राह पर चलकर शुचिता पूर्वक चलने का कार्य किया।
कार्यक्रम में शिव प्रकाश मिश्र सेनानी, अवधेश मिश्रा पूर्व राज्य मंत्री उत्तर प्रदेश, डॉक्टर नीरज त्रिपाठी पूर्व अध्यक्ष यूथ कांग्रेस कमेटी उत्तर प्रदेश, संतोष द्विवेदी पूर्व सभासद, संतोष त्रिपाठी एडवोकेट कोषाध्यक्ष वकील परिषद, राघवेंद्र शुक्ला कोषाध्यक्ष भाजपा प्रदीप शुक्ला अध्यक्ष परशुराम सेना शिव शंकर सिंह, ललित नारायण पांडे ,अनूप त्रिपाठी आचार्य राजेश पांडे, कुलभूषण शुक्ला, सुरेंद्र सिंह, जय सिंह वी डी सी, गगेंद्र सिंह प्रधान, शिव प्रसाद पांडे प्रबंधक, आचार्य कमलेश तिवारी, संजय सिंह प्रधान, हैदर खां प्रधान, तूफान सिंह प्रधान, कमलेश सिंह प्रधान, राम मनोहर पांडे पूर्व इंस्पेक्टर, राम प्रकाश पांडे ,राकेश पांडे, रामनरेश रामकृष्ण रामानुज दास, लक्ष्मी नारायण ओझा, नरसिंह बहादुर सिंह, विपिन मिश्रा, राम लखन चतुर्वेदी सहित चंद्रशेखर दत्त पांडे श्रीधर प्रकाश विनय पांडे उपेंद्र पांडे प्रणव पांडे गोविंद पांडे सहित अनेक सामाजिक कार्यकर्ता एवं पत्रकार गण तथा बुद्धिजीवियों ने अपने श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए आपको एक महामानव के रूप में याद किया।
स्वामी जी की माता 104 वर्षीय श्रीमती शारदा देवी पांडे पत्नी पंडित सूर्य बली पांडे स्वतंत्रता संग्राम सेनानी एवं लोकतंत्र रक्षक सेनानी से आशीर्वचन भी लोगों ने प्राप्त किया।
अंत में धर्माचार्य ओम प्रकाश पांडे अनिरुद्ध रामानुज दास ने आप सभी के प्रति आभार व्यक्त करते हुए स्वामी जी के प्रति अपने श्रद्धा सुमन अर्पित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *