Home उत्तर-प्रदेश-उत्तराखंड Ayurvedic Medicine : अंग्रेजी दवाइयां और एडवांस मेडिकल ट्रीटमेंट को पीछे छोड़...

Ayurvedic Medicine : अंग्रेजी दवाइयां और एडवांस मेडिकल ट्रीटमेंट को पीछे छोड़ रहा, आयुर्वेद…

505
0





Ayurvedic Medicine : 

आयुर्वेद एक ऐसा उपचार हैं…जिसने भारत ही नंही  बल्कि विदेशो मे भी अपना  डंका पीटा हैं…आज हर कोई अंग्रेजी दवाओं से बचना चाहता है…जंहा पर  लोगो का विश्वास  आयुर्वेद की तरफ बढ़ता  हुआ देखा गया…जिसमें आयुर्वेद सबसे आगे निकलता जा रहा हैं…एक तरफ हर रोग के लिए आज लोगों के पास  अंग्रेजी दवाइयां और एडवांस मेडिकल ट्रीटमेंट की  उपलब्धता हैं…
जो आज किसी भी तरह की होने वाले मुश्किल से मुश्किल  रोग  को ठीक करने  की क्षमता रखता हैं…तो अगर आप भी जानना चाहते हैं,कि आयुर्वेद रोगों के निदान और उपचार में कितना कारगर हैं…तो  इस वीडियो को  देखे अन्त तक…और हां सेहत से जुड़ी हर जानकारी जानने के लिए, देखना ना भूले हमारा शो हेल्थ एण्ड वेलनेस शानिवार,रविवार शाम सात बजे सिर्फ और सिर्फ के के डी न्यूज पर….

Ayurvedic Medicine :

आयुर्वेदिक दवा रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में सफल है।जिसमें गिलोय कैप्सूल्स, कोरोना जैसी महामारी में बहुत उपयोगी रही हैं..बता दें,कि  ऐसे ही कई और कैप्सूल्स जैसे की अमला कैप्सूल्स, नीम कैप्सूल्स , ब्राह्मी कैप्सूल्स आदि का उपयोग लोग  कर सकते हैं…अगर बात करे विश्व की,तो  की सबसे पुरातन उपचार पद्धति आयुर्वेद पर दिनों दिन लोगों का रुझान बढ़ता चला जा रहा है उनका विश्वास भी विगत कुछ सालों से बढ़ रहा है…भारत ही नहीं अपितु पूरा विश्व आज आयुर्वेद उपचार पद्धति के आगे नतमस्तक है…आयुर्वेद को आगे ले जाने में सरकार की भूमिका तो अहम है ही, लेकिन डॉक्टर अभिषेक शर्मा जैसे डॉक्टरों की भी अहम भूमिका है…बता दें,कि  17 साल की उपचार सेवाएं देते हुए उन्होंने आयुर्वेदिक सर्जरी के क्षेत्र में कुछ ऐसा कर दिखाया है…जिससे मथुरा जनपद का नाम ही नहीं वल्कि पूरे देश का नाम रोशन हुआ है…डॉक्टर शर्मा को उनके किए गए आयुर्वेदिक सर्जरी की योगदान के लिए चयन कर एक साथ चार वर्ल्ड रिकॉर्ड उनके नाम किए हैं…आइये जानते हैं, डॉक्टर अभिषेक शर्मा ने क्या कुछ खास जानकारी दी हैं साथ ही आयुर्वेदिक के फयदों के बारे में भी जानते हैं…

Ayurvedic Medicine :

अभी आपने सुना कि डॉक्टर शर्मा ने क्या कुछ बताया हैं… आपको बता दें,कि एक ऐसे मरीज को डॉक्टर शर्मा ने ठीक किया हैं…जिसको हर डॉक्टरों ने मना कर दिया था….उन्होंने मरीज को भरोसा दिलाया, कि वह उसके लिए एक नई सर्जरी ईजाद करेंगे….वह कोशिश करेंगे कि गुदा के अंदर इंटरनल स्फिंटर रिंग आर्टिफिशियल तौर से बना दे, तो  मल को कंट्रोल करने की क्षमता वापस लाई जा सकती है…उसके बाद उन्होंने गुदा के अंदर आर्टिफिशल इंटरनल रिंग बनाई और वह सर्जरी 100 प्रतिशत सफल रही…सर्जरी के तुरंत बाद ही मरीज में पूरे  रूप से कंट्रोल आ गया…और 10 साल पूर्व की गई सर्जरी से आज तक कोई दिक्कत नहीं हुई है…. उस मरीज के बाद अब तक डॉक्टर शर्मा द्वारा एक अन्य मरीज में यह सर्जरी सफलता पूर्वक की है….
वह मरीज भी पूरे रूप से स्वस्थ है…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here